जरुरी

ज़िन्दगी में उतार चढ़ाव आने भी जरूरी है,

पता तो चलता है किसने चढ़ते वक्त धक्का लगाया और किसने उतरते वक्तl

shuprabhat

चार बातें

《सुप्रभात》〘सुप्रभात〙

इंसान कर्तव्य से अमर होता है, उत्साह से जवान होता है, प्रार्थना से प्रफुल्लित रहता है और परोपकार से चिरंजीवी बनता है। यह चार बातें याद रखें, अपेक्षा, विश्वास पर खरे उतरे और सकारात्मक ऊर्जा बनाए रखें। कपड़े से छाना हुआ पानी, स्वास्थ्य ठीक रखता है और विवेक से छानी हुई वाणी संबंध को ठीक रखती है। सकारात्मक सोच बनाए रखें शब्दों की कीमत अनमोल मोतियों की धरोहर जैसी है, ठीक हूँ ये हम किसी से भी कह सकते हैं पर परेशान हूँ ये कहने के लिए कोई बहुत ही ख़ास होना चाहिए….. जय श्री कृष्ण

∭✧आपका दिन मंगलमय हो✧∭

▓▓▓ शैलेष पटेल ▓▓▓

विकारों रुपी त्रिशूल

《सुप्रभात》〘सुप्रभात〙

भगवान् शिव अपने हाथ में त्रिशूल रखते हैं। इसका क्या सन्देश है ? तीन विकारों को नियंत्रित करता है ये त्रिशूल, काम-क्रोध और लोभ। काम-क्रोध- लोभ को पूरी तरह समाप्त तो कदापि नहीं किया जा सकता पर नियंत्रित जरूर किया जा सकता है। क्रोध तो शिवजी को भी आता है लेकिन क्षण विशेष के लिए। शक्ति का सही दिशा में प्रयोग ही पुन्य है और गलत दिशा में प्रयोग ही पाप है। क्रोधित शिवजी जितना क्रोध आता था उसके बाद या साथ वह प्रचुर मात्रा में ऐसे ऐसे वरदानों से अपने भक्तों को शक्तिशाली भी बनाते थे। मोहजित शिवजी कभी भी मोह में फंसे हुए नहीं दिखाई देते है। शिवजी ने अपनी समग्र ऊर्जा को नियंत्रित कर रखा है। ऊर्जा का नियंत्रण ही साधना है और यही योग है….. जय श्री कृष्ण

∭✧आपका दिन मंगलमय हो✧∭

▓▓▓ शैलेष पटेल ▓▓▓

सत्य का अमृत

《सुप्रभात》〘सुप्रभात〙

जीवन में सत्य केवल उन्हीं के लिए कडुआ होता है जो झूठ में रहने के आदी हो चुके हों। सच तो वह दौलत है जिसे पहले खर्च करो और जिन्दगी भर आनंद लो, जबकि झूठ वह कर्ज है जिससे क्षणिक सुख पाओ और जिन्दगी भर चुकाते रहो। हम अक्सर सत्य का अमृत छोड़कर झूठ के जंजाल में इस तरह अपने जीवन को उलझा लेते हैं कि सम्पूर्ण जीवन इन्हीं उलझनों को सुलझाने में गुजर जाता है और जब अंत समय आता तो अहसास होता कि आखिर किस लिए किया, यह सब ? स्मरण रहे हमारे जोड़े हुए को घटाने के बाद जो शेष बचता वही हम अगली पीढ़ी को दे पाते हैं। अब सोचना हमें है कि जिनके लिए हम जीवन भर समर्पित रहते हैं उनको क्या देकर जाना है। आज अपने प्रभु से सदा सत्य के मार्ग का अनुसरण करने की अलौकिक प्रार्थना के साथ….. जय श्री कृष्ण

∭✧आपका दिन मंगलमय हो✧∭

▓▓▓ शैलेष पटेल ▓▓▓

मेरा भारत बदल रहा है

《सुप्रभात》〘सुप्रभात〙

कुछ साल पहले खेल समाचार में सुनने मिलता था कि विश्व खेल समारोह के पांचवें दिन भी भारत का पहले पदक के लिए इंतजार बना हुआ है। विश्व खेल समारोह में हमारा स्थान काफी निचे दिखाई देता था। लेकिन अब नया भारत है, बदला हुआ भारत है, पहले दिन से पदकों को जितना सिख गया है। बचपन से खेलों के प्रति मेरी रुचि बनी हुई है, खेल समाचार से लगाव रखता हूं, मुझे याद नहीं है कि थोड़े समय पहले विश्व खेल के दौरान हररोज भारत ने कोई न कोई पदक अपने नाम किया हो लेकिन अभी हुये राष्ट्रमंडल खेलों में भारत ने हररोज पदक जीता। यह बदलाव हमारे खिलाड़ियों को मिल रही विश्व स्तर की तालिम, उत्कृष्ट संसाधन और मेरिट के अनुसार तक के कारण आया है। यह दर्शाता है कि हमारा भारत बदल रहा है, उत्कर्ष कि राह पर है….. जय श्री कृष्ण

∭✧आपका दिन मंगलमय हो✧∭

▓▓▓ शैलेष पटेल ▓▓▓

संकोच न करें

《सुप्रभात》〘सुप्रभात〙

हमारी क्षमता बहुत अधिक है, हम कुछ मात्रा ही सही रूप में इस्तेमाल कर रहे है। हमें ऐसा लगता है कि यह कार्य नहीं हो सकता या हम नहीं कर सकते। कई बार हम बस इसलिए किसी अच्छे कार्य करने में संकोच कर जाते हैं क्योंकि हमें उससे होने वाला बदलाव बहुत छोटा प्रतीत होता है। पर हकीकत में हमारा एक छोटा सा कदम एक बड़ी क्रांति का रूप लेने की ताकत रखता है। हमें वो काम करने से नहीं चूकना चाहिए जो हम अवश्य कर सकते हैं। एक बार गांधीजी ने कहा है , हमें खुद वो बदलाव लाना चाहिए जो हम बाकी दुनिया में देखना चाहते हैं, तभी हम अँधेरे में रौशनी की किरण फैला सकते हैं।….. जय श्री कृष्ण

∭✧आपका दिन मंगलमय हो✧∭

▓▓▓ शैलेष पटेल ▓▓▓

फितरत

《सुप्रभात》〘सुप्रभात〙

हमारी एक ओर गलत फितरत सामने आई है, आजकल त्रिरंगा को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। सभी सोशल मीडिया अपने प्लेटफॉर्म पर मेम्बर्स को एक मौका दे रहे है ताकि वह अपनी डिपी में त्रिरंगा लगा सके। फेसबुक ने भी सरल लिंक दिया है जीस से कोई भी अपनी डिपी में त्रिरंगा जोड़ सकें। लोग ऐसा करें, करना भी चाहिए लेकिन यहां हमारी फितरत सामने आतीं हैं। यह फितरत है, बीना सोचें समझें अनुसरण। लोग डिपी में त्रिरंगा लगा रहे है लेकिन अपनी डिपी में कहां पर लगा रहे है उसकी परवाह नहीं करते है। आपने कुछ फोटो देखे होंगे जिसमें फोटो खड़े हुए पोज़ में लीं गई है और उसके पैरों पर त्रिरंगा लगा दिखाई देता है। यह कितना सही है ? क्या ऐसे लोगों को पता नहीं होगा कि उनकी डिपी में पोज़ कैसा है ? त्रिरंगा लगाने के बाद एक बार तो देखा होगा कि नहीं ? जरुर देखा होगा लेकिन हमारी फितरत है कि अनुसरण कर लिया मानें जिम्मेदारि निभा दी….. जय श्री कृष्ण

∭✧आपका दिन मंगलमय हो✧∭

▓▓▓ शैलेष पटेल ▓▓▓

डर

जिस बात से डर लगता हो उस क्षेत्र में अपना ज्ञान बढ़ाना चाहिये,
डर अपने आप भाग जायेगा, क्योंकि
डर सदैव अज्ञानता से ही उपजता है
शुप्रभात

लोकप्रियता

《सुप्रभात》〘सुप्रभात〙

हमें कभी कभी ऐसा भी लगता है कि, हम इतना लोकप्रिय नहीं है जितना वो है। थोड़े से इर्ष्या भाव से हम ग्लानि महसूस करते है, हम भी चाहते है कि लोग हमें याद करें, महत्व दें, हमारी बातें करें। अगर हमारे साथ बिल्कुल ऐसा नहीं हो रहा है और हमारी ऐसी है तो, कुछ बदलाव करना जरूरी है। बदलाव बोलचाल में, शब्दों मे, हावभाव में करना पड़ेगा। लोकप्रिय होना हो तो सबसे ज्यादा “आप” शब्द का, उसके बाद “हम” शब्द का और सबसे कम “मैं” शब्द का उपयोग करें। जीवन में दूसरों को अधिक से अधिक महत्व दें, फिर देखें लोग चाहेंगे, बात भी करेंगे और पसंद भी करेंगे, लोकप्रिय तो हो ही जाएंगे….. जय श्री कृष्ण

∭✧आपका दिन मंगलमय हो✧∭

▓▓▓ शैलेष पटेल ▓▓▓

पून्यात्मा का सम्मान

《सुप्रभात》〘सुप्रभात〙

हमारे घर में कोई भक्ति करता है, तो घर में कोई नुकसान नहीं हो सकता। जब तक विभीषण जी लंका में रहते थे, तब तक रावण ने कितना भी पाप किया, परंतु विभीषण जी के पुण्य के कारण, भक्ति के कारण रावण सुखी रहा, शासन करता रहा। लेकिन जब विभीषण जी जैसे भगवतवत्सल भक्त को लात मारी और लंका से निकल जाने के लिए रावण ने कहा, तब से रावण का विनाश होना शुरू हो गया। इसी तरह हमारे परिवार में भी जबतक कोई भक्त या पुण्यशाली आत्मा होती है, तब तक हमारे घर में आनंद ही आनंद रहता है। इसीलिए भगवान के भक्तजनों का अपमान कभी भुल से भी न करें। हम जो कमाई खाते हैं, वह पता नहीं किसके पुण्य के द्वारा मिल रही है। इसीलिए हमेशा आनंद में रहें,और कोई भक्त आपके परिवार में भक्ति करता हो, तो उसका अपमान ना करें, उसका सम्मान करें और उसके मार्गदर्शन मे चलने की कोशिश करें….. जय श्री कृष्ण

∭✧आपका दिन मंगलमय हो✧∭

▓▓▓ शैलेष पटेल ▓▓▓

Create your website with WordPress.com
Get started